Old Pension Scheme Ke Fayde

अभी पूरे देश में जितने भी सरकारी कर्मचारी है वो सब पूरे ज़ोर शोर से Old Pension Scheme लागू करवाना चाहते है ऐसे में आप जाना चाहते होंगे कि आख़िर इस Old Pension Scheme Ke Fayde क्या क्या है जो सरकारी नौकरी करने वाले इतने ज़्यादा परेशान है?

National Pension System (NPS)

2004 में भारत सरकार ने पुराने पेन्शन स्कीम को हटा दिया और एक नया पेन्शन स्कीम स्टार्ट किया जिसे National Pension System NPS कहा जाता है ।

मेरे आसपास के कुछ लोग है जो 2011 के लगभग सरकारी टीचर बने और 2022 में रेटायअर हुए है लेकिन उनका पेन्शन सिर्फ़ 3000 रुपया ही हो रहा है और ऐसे भी कुछ सरकारी नौकरी करने वाले है जो 2010 में जॉन किए थे और अभी कुछ दिन पहले रेटायअर हुए तो उनका सैलरी 50000 महीना था लेकिन पेन्शन सिर्फ़ चार हज़ार महीना मिलता है।

जबकि पुराने पेन्शन रहता तो पच्चीस हज़ार रुपया महीना पेन्शन होता। वैसे न्यू पेन्शन स्कीम का बहुत फ़ायदे है लेकिन जो सिर्फ़ दस साल नौकरी करके भी ज़िंदगी भर पेन्शन के रूप में मोटी रक़म लेना चाहते है वो तो Old Pension Scheme चाहेंगे ही इसलिए आयिये इसके बारे में समझते है।

Old Pension Scheme Ke Fayde

Old Pension Scheme Ke Fayde

पुराने पेन्शन स्कीम में सबसे मुख्य सिर्फ़ दो फ़ायदे है जैसे कि :-

  • जो सबसे Last सैलरी होता था उसका 50% पेन्शन के रूप में मिलता है
  • पेन्शन में जो पैसा मिलता है वो आपके सैलरी में से कटौती नहीं होता है

अब सरकारी नौकरी करने वाले ये सोचते है कि न्यू सिस्टम में तो जो भी पेन्शन मिलेगा उसके लिए अपने सैलरी में से 10% कटौती करना होगा नहि तो बुढ़ापे में दिक़्क़त होगी जबकि पहले ऐसा नहीं था तो ऐसे में परेशान तो वो होंगे ही

दूसरा ये कि जो लोग सिर्फ़ कुछ साल ही सरकारी नौकरी करेंगे और पब्लिक को सर्विस देंगे तो ऐसे में पेन्शन फंड में कंट्रिब्यूट भी कम हाई होगा तो पेन्शन भी वही एक हज़ार या 5000 रुपया जैसे पेन्शन मिलेगा इसलिए वो परेशान है।

जबकि ये पोस्ट जो भी पढ़ रहे है तो इस बात को समझिए की Old Pension Scheme के तहत जो पैसा पेन्शन में दिया जाता था वो नौकरी करने वाले कर्मचारी के सैलरी से नहि कटता था तो फिर पैसा कैसे मिलता था?

तो उन सभी सरकारी नौकरी करने वाले का पेन्शन आपके और हमारे जैसे taxpayer के टैक्स में से दिया जाता था और अगर आप ये सोचते होंगे कि आप तो टैक्स नहीं भरते है तो फिर क्या टेन्शन तो आप इतना जानिए कि आप डिरेक्ट टैक्स नहीं देते है लेकिन indirect टैक्स ज़रूर देते है

indirect टैक्स जैसे कि कोई भी सामान ख़रीदते है तो उसपे GST देते है वही टैक्स होता है मतलब कि जितने भी सरकारी नौकरी करने वाले की पुराने पेन्शन स्कीम से पैसा जाता है वो देश के आम नागरिक के टैक्स का ही पैसा होता है।

अगर आपको ये पोस्ट फ़ायदेमंद लगा हो तो अपने करीबी के साथ ज़रूर share करिएगा।

Ajay Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published.